blogid : 15461 postid : 591591

ऐसे बनती हैं फिल्में सौ करोड़ी

Posted On: 3 Sep, 2013 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

जब चाहे तब करोड़ो की कीमत लाखों में बनाने का दम है और लाखों की कीमत करोड़ो में. चार ऐसी बातें जो मिनटो में लाखों की कीमत वाली वस्तु को करोड़ो में बनाकर रख देती हैं. आप सोच रहे होंगे कि ऐसा कैसे हो सकता है कि भला मिनटों में किसी वस्तु की कीमत लाख से करोड़ कैसे हो सकती है.


यह जादू सिर्फ हिन्दी सिनेमा के पास है. एक निर्देशक एक फिल्म को निर्देशित करने में जितनी मेहनत करता है उतना ही उस फिल्म को बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट कराने के लिए करता है क्योंकि आजकल फिल्म की कहानी कितनी दमदार थी इस बात पर कोई ध्यान नहीं देता है. देखा जाता है तो बस यह कि फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर कितने करोड़ की कमाई की.


बॉलीवुड के इस नए ट्रेंड को देख हैरान मत होइए क्योंकि आप भी सिनेमाघर में फिल्म देखने जाने से पहले इस बात का पता कर लेते हैं कि फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर कितने करोड़ की कमाई की है. यदि किसी फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर करोड़ो का आंकड़ा पार कर लिया होता है तो वो फिल्म आपकी नजरों में बेहतर हो जाती है. अब हम आपको बताते हैं वो चार बातें जिनसे फिल्में बॉक्स ऑफिस पर करोड़ो की कमाई कर जाती हैं और वो ही चार बातें बॉलीवुड की सबसे बड़ी कमियां भी हैं.


आजकल किसी भी फिल्म के बॉक्स ऑफिस पर रिलीज होने से पहले दर्शकों को बता दिया जाता है कि फिल्म कितने करोड़ का कारोबार करेगी जिससे दर्शक इस बात का अंदाजा लगा लेते हैं. उन्हें यह फिल्म सिनेमाघर में देखनी चाहिए या नहीं. दर्शक को इस कदर दिमाग लगाने का मौका देती है मीडिया.


किसी भी फिल्म के बॉक्स ऑफिस पर रिलीज होने से पहले ही मीडिया इस बात की घोषणा कर देती है कि फिल्म बॉक्स ऑफिस पर कितने की कमाई करेगी. इतना ही नहीं फिल्म प्रिव्यू के जरिए फिल्म की कहानी को रेटिंग भी दे देती है. इन सब बातों का अर्थ यह हुआ कि यदि फिल्म निर्माता और निर्देशक के मीडिया से संबंध अच्छे हैं तो उनकी फिल्म बॉक्स ऑफिस पर 100 करोड़ का आंकड़ा पार कर जाएंगी और यदि संबंध अच्छे नहीं हैं तो उस फिल्म को राम भरोसे छोड़ दिया जाएगा.


हिन्दी सिनेमा के निर्देशकों और फिल्म लेखकों को अपनी सोच पर भरोसा नहीं रह गया है क्योंकि अधिकांश निर्देशक अंग्रेजी में सोचकर हिंदी में फिल्म बना रहे हैं जो काफी हद तक कॉपी किया गया लगता है. फिल्म देखकर समझ आता है कि निर्देशक को खुद पर भरोसा नहीं है.


फिल्म को बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट कराने के लिए उसमें आइटम नंबर और बोल्ड सीन डाले जाते हैं और फिल्म की कहानी की मांग को अनदेखा कर दिया जाता है जिससे होता यह है कि फिल्म की कहानी दमदार नहीं रहती है. यह सभी वो चार बातें है जो किसी भी फिल्म को बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट तो करा देती हैं पर हिन्दी सिनेमा के लिए दाग का काम करती हैं.



Tags:                                 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

2 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

priya के द्वारा
September 3, 2013

आज कल तो हिन्दी सिनेमा का ही बोल बाला है फिल्म चले या न चले पैसा तो आना ही आना है.

राज के द्वारा
September 4, 2013

आजकल तो फिल्मों में ही सबसे ज्यादा कमाई है चले तो भी ठीक न चले तो भी ठिक .


topic of the week



latest from jagran